-->

(State Wise) भारत के सभी राज्यों के विधायकों (MLA) के Salary की पूरी जानकारी

MLA SALARY (State Wise)

MLA Salary: भारत के सभी राज्यों में MLA को अलग अलग वेतन दिया जाता है। आपको बता दें MLA विधायक को ही कहते है। अभी के टाइम पर सबसे अधिक Salary तेलंगाना राज्य के MLA को दिया जाता है। तेलंगाना भारत देश का वह राज्य है MLA की Salary व अलाउंसेज को मिलकर 2.50 लाख रुपये प्रति महीने की दर से सैलरी मिलती है। हालांकि उस राज्य की सैलरी मात्र 20 हजार रुपये ही है लेकिन केवल भत्ते के तौर पर उनको 230000 रु. दिया जाता है।

mla_salary_list
अगर बात करें सबसे कम MLA के वेतन पाने वाले राज्य की तो इस कड़ी मे त्रिपुरा आता है। त्रिपुरा के विधायकों को सबसे कम Salary मिलती है। यहाँ के MLA को 1 लाख 87 हजार रु. सैलरी मिलती है।

अगर कहा जाए कि अनेकों राज्यों मे MLA की Salary भारत देश के प्रधानमंत्री से भी अधिक है तो यह कहना बुरा नहीं होगा।

अब आपको हम भारत देश के सभी प्रदेशों के MLA की सैलरी के बारे मे बताएगे तो नीचे पेज को खिसकाते जाए और देखते जाए। अगर आप एक टीचर हो तो आपको ऐसी जनरल जानकारी जरूर देखनी चाहिए। नीचे आप State wise MLA की Salary देख सकते है-

स्टेट नाम

सैलरी

त्रिपुरा

34 हजार

नागालैंड

36 हजार

मणिपुर

37 हजार

असम

42 हजार

मिजोरम

47 हजार

अरुणाचल प्रदेश

49 हजार

पुडुचेरी

50 हजार

मेघालय

59 हजार

ओडिसा

62 हजार

गुजरात

65 हजार

केरल

70 हजार

सिक्किम

86.5 हजार

कर्नाटक

98 हजार

तमिलनाडु

1.05 लाख

पश्चिम बंगाल

1.13 लाख

बिहार

1.14 लाख

छत्तीसगढ़

1.10 लाख

मध्यप्रदेश

1.10 लाख

झारखंड

1.11 लाख

पंजाब

1.14 लाख

हरियाणा

1.15 लाख

गोवा

1.17 लाख

राजस्थान

1.25 लाख

हिमाचल प्रदेश

1.25 लाख

आन्ध्रप्रदेश

1.30 लाख

उत्तराखंड

1.60 लाख

जम्मू और कश्मीर

1.60 लाख

उत्तर प्रदेश

1.87 लाख

दिल्ली

2.10 लाख

महराष्ट्र

2.32 लाख

तेलंगाना

2.50 लाख




































नोट:- यहाँ पर कुछ राज्यों के MLA की Salary और भत्ते मे कुछ बदलाव देखने को मिल सकते है।

MLA की अन्य सुविधाएं- सैलरी के अलावा MLA को अन्य बहुत सी सुविधाएं भी मिलती है। उदाहरण के तौर पर उत्तर प्रदेश के एक MLA को विधायक निधि के रूप मे 7.5 करोड़ रुपये खर्च करने के लिए मिलते है। यदि वह चाहें तो उसी पैसे से जनता सेवा यानि नल , सरकारी आवास या मेडिकल सुविधा या फिर यात्रा भत्ता मे भी खर्च कर सकते है।

एक MLA का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उसे जीवनभर 30 हजार रुपये प्रति महीने की दर से पेंशन सुविधा भी सरकार की तरफ से दिया जाता है।

Related Post

Post a Comment